• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

ग्रे बाजार की उठा-पटक से व्यापार ठंडा  

दिसावरों में कमजोर ग्राहकी और भुगतान संकट के कारण ग्रे में भारी उठा-पटक हो रीही है।ईरोड में लागत से कम में ग्रे माल बिकने लगा है।बंगाल में पूजा की बिक्री कमजोर रहने से व्यापारीवर्ग का उत्साह ठंडा पड़ गया है।भिवंडी का ग्रे बाजार भंयकर सुस्त है और इस बार कॉटन की ग्राहकी एकदम कमजोर है।जयपुर में भिवंडी का ग्रे लाखों मीटर प्रतिदिन बिकता था बहरहाल इस बार एकदम ग्राहकी कमजोर है।

कॉटन सूट में इस बार केम्ब्रिक की जगह रेयॉन का चलन ज्यादा नजर रहा है।वॉयल और केम्ब्रिक के भाव एकदम टूटकर न्यूनतम स्तर पर गए  हैं  और इस भावों में भी लेवाली नहीं है।रेयॉन में हर सप्ताह भावों में उठा-पटक हो रही है।रेयान में ज्यादा 52 पीक आा 56 पीक का चलन ज्यादा है और प्रति सप्ताह दो रुपए से लगाकर 2.50 रुपए प्रतिमीटर तक तेजी मंदी रही है।