• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

बढ़े भाव पर सूत बाजार में कामकाज कम  

हमारे संवाददाता

साल 2023 का आखरी महीना और आखरी सप्ताह के साथ समय परिवर्तन वाला चल रहा है 2023 के बाद 2024 के  आम चुनाव अब बहुत महत्वपूर्ण हो गये हैं । नये मतदाता और महिला वर्ग के साथ युवाओं की वोटिंग बढ़ती जा रही है। अब देश समस्या से ज्यादा समाधान के साथ विकास और उन्नति की सोच रहा है। शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन सुविधाओं में काफी सुधार आया है। स्वच्छता की ओर काफी अग्रसर है।

टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज का पावरलूम सेक्टर में निचले भावों से सूत बाजार और कपड़ा बाजार में भावों के सुधार के साथ व्यापार भी बढ़ा है। यानी दोनों में अच्छे दिन आये हैं । अब एक ब्रेक के बाद आगे की कहानी शुरू होगी। दीपावली से पहले और बाद में माल के न्यूनतम भावों में सुधार, आशानुरूप हुआ। अब मार्च तक बाजार आराम से चलना चाहिए। साधारण घटबढ़ तो होती रहेगी।

सूती धागा : सूती धागे में लंबी मंदी और मुश्किलों के बाद अच्छी तेजी का संचार हुआ है। अर्थात रेडियो पर शात्रीय संगीत के बाद डिस्को