• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

मसूर का आयात इस वर्ष 10 लाख टन पार कर जाने के आसार  

हमारे संवाददाता

नई दिल्ली। मसूर के आयात में इस वर्ष भारी वृद्धि होने की उम्मीद है। प्रतिकूल मानसून के कारण इस वर्ष अरहर, मूंग और उड़द जैसे अन्य दलहन के पैदावार की संभावना और बढ़ती हुए खपत के कारण इस वर्ष मसूर का आयात गत वर्ष के 8.5 लाख टन से बढ़कर 10 लाख टन को पार कर जाने की संभावना है।

अप्रैल से अभी तक मसूर का आयात पांच लाख टन को पार चुका है। दूसरा डेढ़ दो लाख टन माल रहा है। इस वर्ष कुल आयात 10 लाख टन से अधिक रहने का हमारा अंदाजा है। ऐसा इंडियन पल्सिस एंड ग्रेइन्स एसोसिएशन के प्रमुख विमल कोठारी ने बताया। 

2022-23 में मसूर की फसल 15.8 लाख टन थी जो पिछले वर्ष के 12.69 लाख टन से अधिक है। फसल अधिक आने से मसूर का आयात 2020-21 में 11.16  लाख टन से घटकर 6.67 लाख टन थी। मसूर का भाव फिलहाल थोक बाजार में 61-62 रुपए प्रति किलो जैसा चल रहा है और आपूर्ति नियमित होने से चिंता करने की जरूरत नहीं है अधिक जानकारी के लिए हमारा ई-पेपर पढ़ें