• मंगलवार, 05 मार्च, 2024

मूंग दाल के बढ़ते भाव को कम करने की कवायद खुले बाजार में 30 हजार टन खड़ी मूंग दाल बेचने पर विचार       

हमारे संवाददाता 

नई दिल्ली-घरेलू बाजार में चना दाल के बाद अब मूंग दाल की कीमतों में बढोतरी होने लगी है। जिससे केद्र सरकार बेहद चिंतित है।ऐसे में केद्र सरकार खुले बाजार में मूंग दाल बेचने का गंभीरता पूर्वक विचार कर रही है ताकि आम लोगों को मूंग दाल की बढती कीमत से राहत मिल सकेगी।

दरअसल देश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव और अगले साल होने वाले आम चुनावों से पहले केद्र सरकार किसी भी स्थिति में खाद्यान्न जिंसें की महंगाई पर काबू रखने की कोशिश कर रही है।जिसमें गेहूं का आटा,प्याज और चने की दाल कीमतों को काबू करने के लिए कदम उठाए   हैं ।ऐसे में सस्ती दरां पर इन खाद्यान्न जिंसों की बिक्री के साथ ही इसके निर्यात पर अतिरिक्त कर और स्टॉक लिमिट को निर्धारित करने जैसे कदम उठाए गए   हैं ।जिससे कि खाद्यान्न जिंसों की कीमत थमी रह सकेगी।इसी कड़ी में केद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की तरफ से कहा गया है इस समय मूंग दाल की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए केद्र सरकार 30,000 टन साबुत मूंग की बिक्री करने पर विचार कर रही है।यद्यपि केद्र सरकार के पास फिलहाल 5 लाख टन से अािधिक मूंग का स्टॉक है।वहीं खुले बगाजार में फिलहाल मूंग दाल 7,75 रुपए प्रति क्विंटल बिक रही है।ऐसे में खुदरा में मूंग दाल की कीमत 123 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है।वहीं आमतौर पर भारत में मूंग दाल की कीमत 115 रुपए के आसपास रहती है।ऐसे में केद्र सरकार यदि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में 1500 रुपए प्रति क्विंटल की छूट देती है तो मूंग दाल की खुदरा कीमत घटकर 107 रुपए प्रति किलो पर रह जाएगी।वहीं केद्र सरकार मूंग दाल की कीमत को नियंत्रित करने के लिए जल्द ही यह फैसला ले सकती है।वहीं केद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की तरफ से 24 नवम्बर 2023 को प्रस्तुत रिपोर्ट के तहत खुदरा बाजार में मूंग दाल की कीमत महीने के आधार पर 1 प्रतिशत और सालाना आधार पर 12.70 प्रतिशत की वृद्वि दर्ज की गई है और यह 117.20 रुपए प्रति किलोग्राम के रेट पर बिक रही है।वहीं थोक स्तर पर मूंग दाल की कीमत महीने के आधार पर 0.7 प्रतिशत और सालाना आधार पर 13.2 प्रतिशत की बढत दर्ज की गई है और यह फिलहाल 1,643.49 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बिक रही है।