• गुरुवार, 30 मई, 2024

चालू वित्त वर्ष में 8 फीसदी के आसपास रहेगी वृद्धि दर : शक्तिकांत दास  

नई दिल्ली भारतीय रिजर्व बैंक का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 8 फीसदी रह सकती है, जो राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के अनुमान से अधिक होगी। एनएसओ ने अपने दूसरे अनुमान में चालू वित्त वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था 7.6 फीसदी की दर से बढ़ने की संभावना जताई है। 

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने समाचार चैनल ईटी नाउ को आज दिए साक्षात्कार में कहा, `उच्च आवृत्ति वाले संकेतक और आर्थिक गतिविधि की रफ्तार देखते हुए हमें लगता है कि चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में वृद्धि दर 5.9 फीसदी से अधिक रह सकती है और जब ऐसी वृद्धि होगी तो पूरे साल के लिए वृद्धि दर का आंकड़ा 7.6 फीसदी से अधिक होगा। चालू वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के 8 फीसदी के करीब रहने की पूरी संभावना है।' 

मगर अगले वित्त वर्ष के लिए दास 7 फीसदी वृद्धि के अपने अनुमान पर कायम हैं, जो उन्होंने फरवरी में मौद्रिक नीति समीक्षा के दौरान जताया था। उन्होंने कहा, `अगले वित्त वर्ष से हमें काफी उम्मीद हैं और अपने आंतरिक विश्लेषण और शोध के आधार पर मैं पूरे भरोसे के साथ कहता हूं कि वित्त वर्ष 2025 में 7 फीसदी वृद्धि दर तय है।'दास ने कहा कि अर्थव्यवस्था की गति मजबूत है, ग्रामीण मांग पिछले साल की तुलना में सुधरी है तथा शहरी मांग भी लगातार मजबूत बनी हुई है।