• गुरुवार, 30 मई, 2024

छोटे शेयरों में बड़ा जोखिम  

छोटे शेयरों में बड़ा धमाल है। छोटे, खुदरा निवेशकों की अधिकांश रकम स्मॉल-कैप और मिड कैप खंडों मे जा रही है। इस वर्ष 2023-'24 में म्युच्युअल फंडों में जितना निवेश आया उसमें से 42 प्र.. मिड कैप और स्मॉल-कैप फंडों में गया है। गत वर्ष यह मात्रा 29 प्र.. और इससे पहले के वर्ष में 16 प्र.. रही। छोटे और मध्यम कंपनियों में अधिक पैसा आने से उनका भाव बढ़ गया है। पिछले एकाध वषर में स्मॉल-कैप इंडेक्स 70 प्र.. और मिड कैप इंडेक्स 60 प्र.. बढ़ा है, जबकि कुल मिलाकर बाजार मात्र 26 प्र.. बढ़ा है। जोरदार तेजी के कारण निफ्टी स्मॉल-कैप इंडेक्स का पी/ रेशियो 29 प्र.. हो गया है, जबकि निफ्टी 50 का 23 है। भाव बढ़े इसलिए निवेशक आकर्षित हों और निवेश आए इसलिए भाव बढ़े, ऐसा चक्र चल रहा है।