• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

रोजगार बढ़ा, लेकिन गुणवत्ता?

डिजिटाइजेशन, जीएसटी, टेक्नोलॉजी और कंपनी क्षेत्र के कामकाज पर से ऐसी छाप पड़ती है कि अर्थव्यवस्था में संगठित क्षेत्र का विस्तार बढ़ रहा है। दुर्भाग्य से रोजगार में उनका प्रतिबिंब नहीं पड़ता। हाल के पीरियोडिग लेबर फोर्स सर्वे के अनुसार श्रमिक वर्ग में सहभागी आबादी का औसत 2021-22 के 55.2 प्रतिशत से बढ़कर 2022-23 में 57.9 प्रतिशत हुआ है, जबकि बेरोजगारी की मात्र 4.2 प्रतिशत से घटकर 3.2 प्रतिशत हुई है।