• रविवार, 14 अप्रैल, 2024

उसी मार्ग पर अधिक गति से, लेकिन कब तक?

राष्ट्रीय आय का वर्तमान प्रोत्साहक आंकड़ा प्रथम नजर में सानंदाश्चर्य देने वाला है, लेकिन सहज बारिकी से जांच ने से चिंता के कई कारण दिखाई देते ø दिसंबर तिमाही में राष्ट्रीय आय में 8.4 प्रतिशत की प्रभावशाली वृद्धि हुई है। संशोधित अनुमान के अनुसार इस वर्ष अब तक विकास दर 8.2 प्रतिशत रही है। संपूर्ण वर्ष का 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान है। 2021-22 के 9.7 प्रतिशत और 2022-23 का 7 प्रतिशत के बाद लगातार तीसरे वर्ष भारत 7 प्रतिशत अथवा और विकास करेगा, जो फिलहाल प्रतिकूल अंतराष्ट्रीय परिस्थिति में उल्लेखनीय सिद्धि माना जाता है।