• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

वूलन, होजियरी, कैशमीलोन व एक्रेलिक किस्मों के परिधान में बिक्री धीमी  

सर्दी का प्रकोप बढ़ने से आगामी दिनों में वूलन परिधानों में बिक्री पुन:सुधरने की उम्मीद

हमारे संवाददाता

इस बार अभी तक दिल्ली एनसीआर सहित उत्तर भारत में शीतकालीन मौसम में अपेक्षित सर्दी नहीं पड़ी है।जिससे स्वभाविक है कि वूलन परिधानों में जैसा कि शुरुआत में थोक बिक्री अच्छी चल पड़ी थी और आसार नजर आ रहे थे जिसमें पिछले दिनों कुछ रुकावट रही है।बहरहाल भारतीय मौसम की तरफ से नवीनतम भविष्यवाणी की गई है कि गत सप्ताहांत से दिल्ली एनसीआर में धीमी गति की हवाएं चलेंगी।जिससे एक तरफ दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण का स्तर घटेगा।वहीं दूसरी तरफ दिल्ली एनसीआर में सर्दी का प्रकोप बढेगा।जिससे स्वभाविक है कि सर्दी का प्रकोप बढने से वूलन किस्मों के परिधानों की थोक बिक्री में सुधार की गुंजाईश पुन: बनेगी।जिसको लेकर स्थानीय थोक व्यापारी सर्दी पड़ने को लेकर प्रतीक्षारत है ताकि उनका वूलन परिधान के स्टॉक की निर्धारित समय पर निकासी हो सकेगी।  

दरअसल दिल्ली एनसीआर में अभी तक सर्दी का प्रकोप विशेष नहीं बढा है जिससे वूलन किस्मों के परिधानों की थोक बिक्री फिलहाल धीमी पड़ गई है।जिससे गर्म परिधानों में जैसे कि वूलन, होजयरी, कैशमीलोन व एक्रेलिक किस्मों के परिधानों के स्थानीय थोक व्यापारी चिंतत नजर आ रहे हैं  क्येंकि उनके पास स्टॉक का जमाव बन रखा है।हालांकि इस बार दीपावली से दस दिन पहले और दीपावली के दस दिन बाद वूलन किस्मों के परिधानों की थोक बिक्री अच्छी चली थी और पुराना स्टॉक लगभग साफ हो गया था और आगे के लिए थोक कारोबार बेहतर चलने के आसार नजर आ रहे थे।