• बुधवार, 17 जुलाई, 2024

अब समय है नए और महान स्वप्न देखने का, भगीरथ पुरुषार्थ करने का 

कन्याकुमारी की विचारकर्णिकाएं 

प्रिय देशवासियो, 

2024 का लोकसभा का चुनावरूपी महोत्सव खत्म होने आया है। कन्याकुमारी की तीन दिवसीय आध्यात्मयात्रा के बाद, मैं अभी-अभी दिल्ली के लिए विमान में बैठा हूँ। मेरा मन विभिन्न अनुभवों और भावनाओं से छलक रहा है। मैं महसूस करता हूं कि मेरे भीतर प्रचंड ऊर्जा स्फूरित....